Friday, February 21, 2014

'केस मुकदमा नहीं करेंगें , भाई भाई साथ रहेंगें


जो कहना , वही करना ..




इस समाचार को देखिएगा और जहां भी गैर-ज़रूरी मुकदमें में उलझ कर तड़पते हुए लोग दिखाई पड़ें उन्हें परामर्श देना है ---------

''केस मुकदमा नहीं करेंगें , भाई भाई साथ रहेंगें ..''

No comments:

Post a Comment

इस पोस्ट पर आप अपने विचार अवश्य लिखें !


अरविन्द पाण्डेय .